Yaas Cyclone बंगाल और ओडिशा यास ने मचाई तबाही, बिहार और झारखण्ड में हाई अलर्ट जारी

0
62
Yaas Cyclone बंगाल और ओडिशा यास ने मचाई तबाही, बिहार और झारखण्ड में हाई अलर्ट जारी
Yaas Cyclone बंगाल और ओडिशा यास ने मचाई तबाही, बिहार और झारखण्ड में हाई अलर्ट जारी

 

बंगाल और ओडिशा में तबाही मचाने के बाद यास तूफान (Yaas Cyclone) आगे बढ़ गया है, लेकिन ये तूफान अपने पीछे तबाही का मंजर छोड़ गया है। बंगाल और ओडिशा में तूफान की वजह से 20 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित हुए हैं। बारिश और घरों के टूटने की वजह से 4 लोगों की मौत हो गई। इनमें 3 ओडिशा और एक बंगाल से है।

Thailand थाईलैंड से बुलाई कॉल गर्ल की अस्पताल में कोरोना से मौत, 7 लाख रुपये देकर लखनऊ बुलवाया था.
Shri Prakash shukla :- 25 साल का लड़का जिसने मुख्यमंत्री की सुपारी 6 करोड़ में ली.

बंगाल में पूर्व मेदिनीपुर जिले के दीघा, शंकरपुर, मंदारमनी दक्षिण 24 परगना जिले के बाद बकखाली, संदेशखाली, सागर, फ्रेजरगंज, सुंदरबन आदि जगहों से लेकर पूरे बंगाल में 3 लाख लोगों के घर इस तूफान से उजड़ गए हैं। 134 बांध टूट गए हैं, जिन्हें ठीक करवाया जा रहा है। यहां बुधवार को 130-145 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलीं। बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी 28 और 29 मई को हेलिकॉप्टर से तूफान प्रभावित इलाकों का दौरा करेंगी।

बिहार में तूफान का विशेष प्रभाव दो दिन यानी 27 से 28 मई तक रहेगा। इस दौरान राज्य में 40 किलोमीटर प्रति प्रतिघंटे की रफ्तार से हवा चल सकती है। कई इलाकों में तेज बारिश के साथ वज्रपात की आशंका है। मौसम विभाग ने इसे लेकर येलो अलर्ट जारी किया है।

चक्रवात यास (Yaas Cyclone) ओडिशा के बालासोर के पास तट से सुबह नौ बजे टकराया। इस दौरान तूफान से प्रेरित हवा की रफ्तार 110 किमी प्रतिघंटे थी। मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक विवेक सिन्हा ने बताया कि यह प्रचंड चक्रवाती तूफान था। उस समय तूफान  की (बंगाल की खाड़ी में तट के पास जल की) स्पीड 10 किमी प्रतिघंटे थी। बुधवार शाम सात बजे तक यह झारखंड में प्रवेश कर चुका था, जहां इसकी गति काफी धीमी हो गई है।

यास तूफान (Yaas Cyclone) के असर से उत्तर बिहार के जिलों का मौसम बदल गया। बुधवार सुबह से ही उत्तर बिहार के जिलों में काले बादल छाये रहे। हल्की से तेज हवा के साथ रुक-रुककर बारिश होती रही। बारिश या तेज हवा से अब तक कही से किसी नुकसान की सूचना नहीं मिली। मौसम में आए इस बदलाव से लोगों को तपती गर्मी से राहत मिली। मौसम विभाग के अगले दो दिनों तक आंधी-बारिश के साथ वज्रपात की आशंका के मद्देनजर जिला प्रशासन ने तैयारी शुरू कर दी है। आपदा सहित कई विभागों को अलर्ट मोड में रखा गया है। मुजफ्फरपुर में बुधवार की शाम हल्की से मध्यम बारिश हुई।

THE PRESS NOTE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here