WHO ने दी चेतावनी: डेल्टा वेरिएंट खतरनाक, जल्दबाजी में न दें प्रतिबंधों में ढील

0
33
WHO ने दी चेतावनी: डेल्टा वेरिएंट खतरनाक, जल्दबाजी में न दें प्रतिबंधों में ढील
WHO ने दी चेतावनी: डेल्टा वेरिएंट खतरनाक, जल्दबाजी में न दें प्रतिबंधों में ढील

 

नई दिल्ली WHO Warning: कोरोना की दूसरी लहर कमजोर पड़ने के बाद देश के कई राज्यों में अनलॉक की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। कई राज्यों में लॉकडाउन को आगे बढ़ाया गया है तो कई राज्यों ने विभिन्न गतिविधियां शुरू करने की अनुमति दे दी है। ऐसे में विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने बड़ी चेतावनी दी है।

संगठन के प्रमुख टेड्रॉस गेब्रयासस ने कहा कि डेल्टा वेरिएंट (Delta Variant) सहित अन्य वेरीएंट्स काफी चिंताजनक है और इनके बढ़ते संक्रमण को देखते हुए प्रतिबंधों में जल्दबाजी में दी गई ढील खतरनाक साबित हो सकती है। उन्होंने कहा कि खासतौर पर उन लोगों के खतरनाक वेरिएंट्स का शिकार होने की संभावनाएं ज्यादा हैं जिन लोगों को अभी तक वैक्सीन नहीं लगी है।

Paranormal expert: गौरव तिवारी पैरानॉर्मल एक्सपर्ट के रहस्यमयी मौत की अनसुनी दास्तान

पिछले माह के अंत में WHO ने कहा था कि कोरोना वेरिएंट पर वैक्सीन असर न करे ऐसा नहीं है। हालांकि संगठन के महानिदेशक टेड्रोस अधनम घेब्रेसस ने इस बात की गारंटी लेने से इनकार करते हुए कहा कि भविष्य में ऐसा नहीं भी हो सकता है क्योंकि वायरस अपना रूप बदल रहा है। वहीं WHO की चीफ साइंटिस्ट डॉ. सौम्या स्वामीनाथन ने भारत में तबाही मचाने वाले डबल म्यूटेंट वायरस को काफी संक्रामक बताया था। साथ ही उन्होंने यह भी कहा था कि वैक्सीन इस वेरिएंट पर भी पूरी तरह असरदार है। महानिदेशक ने सितंबर तक सदस्य देशों के कम से कम 10 फीसद आबादी को वैक्सीनेट करने का आग्रह किया था।

Twitter

बता दें कि कोरोना वायरस के भारत में पहली बार पाए गए स्वरूप बी.1.617.1 और बी.1.617.2 को अब से क्रमश: ‘कप्पा’ तथा ‘डेल्टा’ से नाम से जाना जाएगा. दरअसल विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने कोरोना वायरस के विभिन्न स्वरूपों की नामावली की नई व्यवस्था की घोषणा की है जिसके तहत वायरस के विभिन्न स्वरूपों की पहचान ग्रीक भाषा के अक्षरों के जरिए होगी. यह फैसला वायरस को लेकर सार्वजनिक विमर्श का सरलीकरण करने के लिए लिया गया है.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here