Twitter Blue Tick : वैंकेया नायडू के Twitter अकाउंट का वापस आया ब्लू टिक

0
26
Twitter Blue Tick : वैंकेया नायडू के Twitter अकाउंट का वापस आया ब्लू टिक
Twitter Blue Tick : वैंकेया नायडू के Twitter अकाउंट का वापस आया ब्लू टिक

 

नई दिल्ली, एएनआइ| ट्विटर (Twitter ) ने भारत के उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू  के एकाउंट में ब्लू टिक Venkaiah Naidu Twitter Blue Tick वापस लगा दिया है। सूत्रों के हवाले से पता चला है कि आईटी मंत्रालय की ओर से इस मामले को लेकर कड़ाई से निपटने की बात कही गई थी। इसके अलावा ट्विटर (Twitter )ने संघ के भी कई नेताओं के ट्विटर हैंडल को अनवेरीफाइड कर दिया था। इस मामले में ट्विटर की सफाई आई है। ट्विटर का कहना है कि लंबे समय से अकाउंट को लॉग इन नहीं किया गया। इस वजह से ये कदम उठाया गया।

Juhi Chawla जूही चावला की याचिका हाईकोर्ट ने की खारिज, साथ ही 20 लाख का जुरमाना

पिछले महीने ही सोशल माइक्रोब्लॉगिंग साइट ट्विटर (Twitter )ने कहा था कि जो भी लोग अपना अकाउंट वैरिफाइ करना चाहते हैं वे वेरिफिकेशन एप्लिकेशन प्रॉसेस से जुड़ सकते हैं. ट्विटर ने यह भी कहा था कि जो अकाउंट काफी ज्यादा समय से निष्क्रिय हैं उनका ब्लू टिक हटा दिया जायेगा. जिन अकाउंट की जानकारियां अधूरी हैं उनका भी ब्लू टिक हटाया जायेगा.

ANI

उपराष्ट्रपति समेत तमाम आरएसएस के नेताओं के अकाउंट से भी ब्लू टिक हटाने का मामला अब बढ़ सकता है। सूत्रों की मानें तो सूचना प्रसारण मंत्रालय ने इस पर नाराजगी व्यक्त की है। हालांकि ट्विटर (Twitter )ने इस कार्रवाई के पीछे कारण स्पष्ट कर दिया है लेकिन मामला इतनी आसानी से निपटने वाला नहीं है। इससे पहले भी ट्विटर और केंद्र सरकार के बीच टकराव वाली स्थिति बन रही थी। अब ऐसे में ट्विटर की ये कार्रवाई से ये विवाद तूल पकड़ सकता है।

केंद्र सरकार और सोशल मीडिया दिग्गज ट्विटर (Twitter ) के बीच जारी विवाद अब और बढ़ता नजर आ रहा है। केंद्र सरकार ने ट्विटर (Twitter ) को नए डिजिटल नियम लागू करने को लेकर अंतिम चेतावनी दी है। आईटी मंत्रालय की तरफ से भेजे गए नोटिस में साफ-साफ कहा गया है कि कंपनी जल्द से जल्द नए नियम लागू करे नहीं तो उसे गंभीर परिणाम भूगतना पड़ सकता है। सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद की अध्यक्षता में आईटी के प्रमुख वरिष्ठ अधिकारियों के साथ 4 जून को हुई बैठक में ये फैसला लिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here