Teesta Setalvad SIT ने हलफनामे में तीस्ता सीतलवाड़ का किया खुलासा, रिपोर्ट पढ़‍िए
Teesta Setalvad SIT ने हलफनामे में तीस्ता सीतलवाड़ का किया खुलासा, रिपोर्ट पढ़‍िए

 

अहमदाबा|Teesta setalvad : 2002 के गुजरात दंगों को लेकर जांच कर रही विशेष जांच दल (SIT) ने सामाजिक कार्यकर्ता तीस्‍ता सीतलवाड़ को लेकर कई नए खुलासे किए हैं। शुक्रवार को एसआईटी ने सत्र अदालत को बताया कि तीस्ता सीतलवाड़ (Teesta setalvad), पूर्व डीजीपी आरबी श्रीकुमार और पूर्व आईपीएस अधिकारी संजीव भट्ट प्रदेश की मोदी सरकार को गलत तरीके से फंसाने और सरकार ग‍िराने की साजिश में शामिल थे। इन सबके पीछे दिवंगत कांग्रेस नेता अहमद पटेल का भी हाथ था।

अहमदाबाद सेशन कोर्ट में दाखिल एफिडेविट में SIT कहा कि तीस्ता (Teesta setalvad)को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के सलाहकार अहमद पटेल से एक बार 5 लाख रुपए और एक बार 25 लाख रुपए मिले थे। गुजरात दंगा केस में जेल में बंद तीस्ता की तरफ से पेश जमानत याचिका का विरोध करते हुए SIT ने यह बात कही। गुजरात SIT ने तीस्ता को 25 जून को मुंबई में उनके घर से गिरफ्तार किया था।

SIT के खुलासे के बाद ‌BJP ने कांग्रेस को निशाने पर लिया है। BJP प्रवक्ता संबित पात्रा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि गुजरात दंगे में जिस तरह कांग्रेस ने नरेन्द्र मोदी को बदनाम करने की साजिश रची परत दर परत उसकी सच्चाई सामने आ रही है। SIT का एफिडेविट कहता है कि तीस्ता सीतलवाड़ (Teesta setalvad) और उनके साथी मानवता के तहत काम नहीं कर रहे थे। ये राजनीतिक मंसूबे के साथ काम कर रहे थे।

संबित ने कहा कि इनके 2 मकसद थे। पहला- गुजरात की तब की सरकार को अस्थिर किया जाए और दूसरा- बेगुनाह लोगों को इसमें शामिल किया जाए। जिसमें नरेंद्र मोदी का भी नाम शामिल है। उन्होंने आरोप लगाया कि अहमद पटेल ने सिर्फ पैसे की डिलीवरी की थी। सोनिया गांधी ने इसके बाद न जाने कितने करोड़ रुपए नरेंद्र मोदी को अपमानित और बदनाम करने के लिए दिए। सोनिया ने तीस्ता सीतलवाड़ (Teesta setalvad) का इस्तेमाल राहुल गांधी को प्रोमोट करने के लिए किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here