Remdesivir Injection : जबलपुर नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन मामले में VHP नेता सरबजीत सिंह मोखा समेत 4 गिरफ्तार

0
36
Remdesivir Injection जबलपुर नकली रेमेडिसविर इंजेक्शन मामले में VHP नेता सरबजीत सिंह मोखा समेत 4 गिरफ्तार
Remdesivir Injection जबलपुर नकली रेमेडिसविर इंजेक्शन मामले में VHP नेता सरबजीत सिंह मोखा समेत 4 गिरफ्तार

Remdesivir Injection: जबलपुर अस्पताल चीफ और VHP नेता को नकली रेमडेसिविर बेचने के लिए पुलिस ने किया गिरफ्तार.

जबलपुर (Remdesivir Injection)| जबलपुर के विश्व हिंदू परिषद के चीफ और जबलपुर अस्पताल के मालिक सरबजीत सिंह मोखा समेत 4 लोगों पर COVID-19 के उपचार में इस्तेमाल होने वाली दवा, नकली रेमडेसिविर (Remdesivir Injection) बेचने का आरोप है. इस दवा का इस्तेमाल कोरोना का इलाज करने में किया जा रहा है. आरोपी सरबजीत सिंह मोखा विश्व हिंदू परिषद नर्मदा डिविजन के अध्यक्ष भी है. जबलपुर की सिटी अस्पताल के डायरेक्टर मोखा पर इंदौर से 500 रेमडेसिविर इंजेक्शन (Remdesivir Injection) जुटाने का आरोप है, जो कि कोरोना को मरीजों को लगाए गए हैं. मोखा पर आईपीसी की धारा 274, 275, 308 और 420 के तहत मामला दर्ज किया गया है.

Cyber Attack: अमेरिका की कोलोनियल पाइपलाइन कंपनी पर साइबर अटैक भारत में बढ़ सकती हैं पेट्रोल-डीजल की कीमतें.

मामले में अन्य आरोपी  देवेंद्र चौरसिया मोखा और दूसरा, सपन जैन शामिल हैं, ये दोनों मोखा के साथ ही काम करते थे. ये दवा कंपनियों के साथ डीलरशिप संभालते थे. यह घटना तब सामने आई जब गुजरात पुलिस की एक टीम ने एक नकली रेमडेसिविर (Remdesivir Injection) बनाने वाली कंपनी का भांडा फोड किया और जैन को 7 मई को जबलपुर से गिरफ्तार किया.

वीएचपी के प्रांतीय मंत्री, राजेश तिवारी ने कहा है कि मोखा को अब उसकी जिम्मेदारियों से मुक्त कर दिया गया है, और पुलिस को ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करनी चाहिए.

जबलपुर आईजी भागवत सिंह ने मीडिया से बात करते हुए कहा, हमने हालही के दिनों में एडिशनल सुपरिटेंडेंट ऑफ पुलिस रैंक के एक नोडल ऑफिसर के नेतृत्व में एसआईटी का गठन किया है. इस एसआईटी का गठन रेमडेसिविर  (Remdesivir Injection) और ऑक्सीजन की कालाबाजारी को पकड़ने के लिए किया गया था. हम लोग इस नेटवर्क को तोड़ने की कोशिश कर रहे हैं. साथ ही उन्होंने कहा, छिंदवाड़ा में भी हमने 3-4 लोगों को पकड़ा है. जबलपुर में भी 20-20 हजार के ऑक्सीजन सिलेंडर बेचने वाले कुछ लोगों को पकड़ा गया है.

भारत में कोरोना की दूसरी लहर ने हाहाकार मचा दिया है. स्वास्थ्य व्यवस्था अपनी क्षमता से ज्यादा काम कर रही है और इसी बीच कुछ ऐसी भी लोग हैं जो आपदा में लोगों की मजबूरियों को फायदा उठाकर अपनी जेबें गर्म कर रहे हैं. इस आपदा में बहुत से ऐसे अस्पताल हैं जो मेडिकल उपकरणों की कमी से जूझ रहे हैं, इनमें रेमेडीसविर और ऑक्सीजन  शामिल हैं.

THE PRESS NOTE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here