Presidential Election 2022 Live: राष्ट्रपति चुनाव के लिए वोटिंग जारी
Presidential Election 2022 Live: राष्ट्रपति चुनाव के लिए वोटिंग जारी

 

Presidential Election 2022 Live 15वें राष्‍ट्रपति कौन होंगे? 21 जुलाई 2022 को इस सवाल का जवाब मिल जाएगा। अगला राष्‍ट्रपति चुनने के लिए सोमवार को करीब 4,800 निर्वाचित सांसद एवं विधायक मतदान करेंगे। मतदान से जुड़े अपडेट्स आप यहां क्लिक कर फॉलो कर सकते हैं। राष्‍ट्रपति चुनाव 2022 में राजग की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू को विपक्ष के यशवंत सिन्हा चुनौती दे रहे हैं। अगले राष्ट्रपति 25 जुलाई को शपथ लेंगे। द्रौपदी मुर्मू का भारत का पहला आदिवासी राष्‍ट्रपति बनना तय है। राजग की उम्मीदवार के पास 6.67 लाख से अधिक वोट हैं। जीत के लिए करीब 5.50 लाख मतों की जरूरत है। राष्‍ट्रपति चुनाव के रनअप में हमने स्‍वतंत्रता से लेकर अबतक के हर राष्‍ट्रपति के चुनाव से जुड़ा दिलचस्‍प किस्‍सा पेश किया। आज जब नया महामहिम चुनने को वोट डाले जा रहे हैं, एक बार सभी राष्‍ट्रपतियों के बारे में जान लेते हैं।

देश के अगले महामहिम को चुनने के लिए मतदान जारी है। सभी राज्य के विधायक और सांसद वोटिंग कर रहे हैं। 21 जुलाई को चुनाव का परिणाम आ जाएगा।
संविधान सभा ने 1950 में डॉ. राजेन्द्र प्रसाद को ही भारत का पहला राष्‍ट्रपति चुना(Presidential Election 2022 Live)। वह 1952 में हुआ पहला राष्‍ट्रपति चुनाव जीते और 1957 में दूसरा भी। राजेन्‍द्र बाबू मई 1962 तक भारत के राष्‍ट्रपति रहे। उनका कार्यकाल सभी राष्‍ट्रपतियों में सबसे लंबा है।
राधाकृष्णन जब मैदान में उतरे तो किसी दल ने उनके खिलाफ उम्मीदवार नहीं खड़ा किया लेकिन दो निर्दलीय उम्मीदवार चुनाव मैदान में थे। राधाकृष्णन के सामने चौधरी हरिराम और दूसरे निर्दलीय प्रत्याशी थे यमुना प्रसाद त्रिसुलिया। चौधरी हरिराम तीसरी बार चुनाव लड़ रहे थे। राधाकृष्णन की एकतरफा जीत हुई। उनको 5,53,067 वोट मिले वहीं दोनों उम्मीदवारों मिलाकर केवल दस हजार वोट मिले
आजादी के 20 साल के बाद देश को तीसरा राष्ट्रपति (Presidential Election 2022 Live)मिलना था और पहली बार कोई मुस्लिम इसकी रेस में था। एक तरफ कांग्रेस समर्थित कैंडिडेट थे जाकिर हुसैन तो, दूसरी तरफ रिटायर्ड चीफ जस्टिस के. सुब्बाराव को जनसंघ समेत पूरा विपक्ष सपोर्ट कर रहा था। जनसंघ ने आपत्ति उठाई कि एक मुस्लिम को राष्ट्रपति के तौर पर स्वीकार करने के लिए देश के लोग राजी नहीं हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here