Oxygen कोरोना की यह दूसरी लहर ऑक्सीजन सप्लाई रोकने वाले को ‘हम लटका देंगे’- दिल्ली हाईकोर्ट

0
58
Oxygen कोरोना की यह दूसरी लहर ऑक्सीजन सप्लाई रोकने वाले को 'हम लटका देंगे'- दिल्ली हाईकोर्ट
Oxygen कोरोना की यह दूसरी लहर ऑक्सीजन सप्लाई रोकने वाले को 'हम लटका देंगे'- दिल्ली हाईकोर्ट

Oxygen संकट के बीच दिल्ली HC,सप्लाई रोकने वाले को फांसी पर लटका देंगे

नई दिल्ली: दिल्ली हाईकोर्ट (High Court) में ऑक्सीजन संकट (Oxygen Crisis) के मामले पर हुई सुनवाई के दौरान अदालत ने अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी पर कड़ी नाराजगी जताई है. सुनवाई के दौरान हाई कोर्ट ने कहा कि जो भी ऑक्सीजन (Oxygen) की सप्लाई को बाधित करने की कोशिश करेगा, हम उसे फांसी पर लटका देंगे. जस्टिस विपिन सांघी और जस्टिस रेखा पल्ली की बेंच ने गंभीर रूप से बीमार कोविड मरीजों के इलाज के दौरान हो रही ऑक्सीजन (Oxygen) की कमी को लेकर दायर एक याचिका पर सुनवाई के दौरान ये तल्ख टिप्पणी की. याचिका महाराजा अग्रसेन अस्पताल की ओर से लगाई गई थी.

दिल्ली हाईकोर्ट में ऑक्सीजन (Oxygen) संकट के मामले पर हुई सुनवाई के दौरान अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी पर नाराजगी जताई. अदालत ने दिल्ली सरकार से कहा कि वह बताए कि कौन ऑक्सीजन की आपूर्ति को बाधित कर रहा है. पीठ ने कहा, “हम उस व्यक्ति को लटका देंगे. हम किसी को भी नहीं बख्शेंगे.” अदालत ने दिल्ली सरकार से कहा कि वह स्थानीय प्रशासन के ऐसे अधिकारियों के बारे में केंद्र को भी बताए ताकि वह उनके खिलाफ कार्रवाई कर सके. उच्च न्यायालय ने केंद्र से भी सवाल किया कि दिल्ली के लिए आवंटित प्रतिदिन 480 मीट्रिक टन ऑक्सीजन उसे कब मिलेगी?

TWITTER:

अदालत ने दिल्ली सरकार से ये भी कहा कि वो बताए कि आखिर कौन दिल्ली की ऑक्सीजन (Oxygen) की सप्लाई को बाधित कर रहा है. पीठ ने कहा, ‘हम उस व्यक्ति को लटका देंगे. हम किसी को भी नहीं बख्शेंगे. दिल्ली सरकार स्थानीय प्रशासन के ऐसे अधिकारियों के बारे में केंद्र सरकार को भी ये बताए ताकि वो उनके खिलाफ कार्रवाई कर सके.

दिल्ली सरकार की तरफ से मेहराः 24 घंटे में हालात नहीं सुधरे तो स्थिति हाथ से निकल जाएगी। केंद्र सरकार के अधिकारियों की तरफ से किसी भी तरह का भरोसा लिखित में आना चाहिए। नोडल ऑफिसरों पर बहुत ज्यादा बर्डन है। 4-5 अधिकारियों से कुछ नहीं होने वाला है।

Paranormal expert: गौरव तिवारी पैरानॉर्मल एक्सपर्ट के रहस्यमयी मौत की अनसुनी दास्तान

दिल्ली सरकार के वकील मेहराः कम से कम 10 आईएएस अधिकारी मॉनिटरिंग के काम पर लगाए जाने चाहिए। इसके अलावा 24 अफसरों को रोज इस काम में लगाया जाए। हमारे पास 140 अस्पताल और नर्सिंग होम्स हैं।

मेहराः दूसरे राज्यों में सड़कों पर अब टैंकरों को नहीं रोका जा रहा है, क्योंकि यह साफ दिखने लगता है। अब फैक्ट्रियों पर राशनिंग हो रही है, जहां उत्पादन होता है। केंद्र को चाहिए कि राज्यों से कहे कि सप्लाई में रुकावट पैदा न करें।

जस्टिस विपिन सांघी: अगर ऐसा कोई उदाहरण है तो साफ साफ बताएं। हम छोड़ेंगे नहीं उस अधिकारी को क्योंकि हम साफ अपने आदेश में कह चुके हैं। जिसने भी ऑक्सिजन आपूर्ति में रुकावट डाली, उसे हम फांसी पर लटका देंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here