Omicron Variant WHO ने कोरोना वायरस के नए वेरिएंट को ओमीक्रॉन नाम दिया

0
30
Omicron Variant WHO ने कोरोना वायरस के नए वेरिएंट को ओमीक्रॉन नाम दिया
Omicron Variant WHO ने कोरोना वायरस के नए वेरिएंट को ओमीक्रॉन नाम दिया

 

Covid New Variant Omicron दुनिया के कई देशों में इस वक्त कोरोना के नए वेरिएंट ‘Omicron’ ने दहशत पैदा कर दी है. कोरोना का यह नया वेरिएंट (Omicron) सबसे पहले दक्षिण अफ्रीका में मिला है, इस नए वैरिएंट को लेकर चारों तरफ चिंता का माहौल बना हुआ है.

वैज्ञानिकों का कहना है कि तेजी से म्यूटेशन होने की वजह से यह डेल्टा, डेल्टा प्लस और बाकी वेरिएंट से खतरनाक है. कोरोना की दूसरी लहर से सीख लेतेलेते हुए भारत सरकार भी इसको लेकर सतर्क हो गई है और एडवाइजरी जारी की है.

कोरोना वैक्सीन बनानेवाली कंपनियां फाइजर और बायोएनटेक ने बयान जारी किया है. बयान में कहा गया कि इस बात को लेकर निश्चितता नहीं है कि उनका टीका नए COVID-19 वेरिएंट ‘Omicron’ के खिलाफ कारगर साबित होगा. हालांकि, स्पुतनिक की रिपोर्ट के अनुसार, Pfizer और BioNTech ने लगभग 100 दिनों में नए वैरिएंट के खिलाफ नया टीका विकसित करने का वादा भी किया है.

Venkaiah Naidu संसद में हुए हंगामे का जिक्र कर भावुक हुए सभापति वेंकैया नायडू

कोरोना के नए स्ट्रेन ‘Omicron’ को देखते हुए भारत सरकार ने सभी राज्यों को एडवाइजरी जारी की है. राज्यों से कहा गया है कि वे विदेश से आ रहे सभी यात्रियों का कोविड टेस्ट जीनेम सिक्वेसिंग के लिए करवाएं. रिस्क लिस्ट वाले देशों की केंद्र सरकार ने लिस्ट बनाई है और वहां से आ रहे यात्रियों पर पैनी नजर रखी जा रही है.

ये देश हैं- ब्रिटेन, दक्षिण अफ्रीका, ब्राजील, बांग्लादेश, बोत्सवाना, चीन, मारीशस, न्यूजीलैंड, जिम्बाब्वे, हॉन्गकॉन्ग और इजरायल. जो लोग इन देशों से भारत आएंगे, उन्हें 14 दिनों तक क्वारंटीन रहना होगा और रवाना होने से 48 घंटे पहले कोविड टेस्ट रिपोर्ट देनी होगी.

विश्व स्वास्थ्य संगठन की एक सलाहकार समिति ने दक्षिण अफ्रीका में पहली बार सामने आए कोरोना वायरस के नए वेरिएंट (Omicron) को ‘बेहद तेजी से फैलने वाला चिंताजनक प्रकार’ करार दिया है.

संयुक्त राष्ट्र की स्वास्थ्य एजेंसी की ओर से शुक्रवार को की गई यह घोषणा पिछले कुछ महीनों में वायरस के नए प्रकार की कैटिगरी में पहली बार की गई है. इसी कैटिगरी में कोरोना वायरस के डेल्टा वेरिएंट (Omicron) को भी रखा गया था जिसका प्रसार दुनियाभर में हुआ था और भारत में भी दूसरी लहर के लिए इसे जिम्मेदार बताया गया था.

The Press Note

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here