Monkeypox Update दिल्ली में मिला मोनकेपॉक्स का केस देश में बढ़ रहे है मामले
Monkeypox Update दिल्ली में मिला मोनकेपॉक्स का केस देश में बढ़ रहे है मामले

Monkeypox Update दिल्ली 34 साल का एक मरीज पॉजिटिव मिला है। हालांकि, ये शख्स मनाली में एक पार्टी में शामिल होकर कुछ दिनों पहले लौटा था

क्या है मंकीपॉक्स 

संक्रामक रोग विशेषज्ञ डॉक्टर चंद्रकांत लहारिया के मुताबिक यह बीमारी मंकीपॉक्स नाम के वायरस से होती है। मंकीपॉक्स, ऑर्थोपॉक्स वायरस परिवार का हिस्सा है। इसमें भी चेचक की तरह शरीर पर दाने हो जाते हैं। दरअसल, चेचक को फैलाने वाला वैरियोला वायरस भी ऑर्थोपॉक्स फैमिली का ही हिस्सा है।

MINISTRY OF HEALTH

हालांकि, मंकीपॉक्स (Monkeypox Update) के लक्षण चेचक की तरह गंभीर नहीं, बल्कि हल्के होते हैं। यह बहुत कम मामलों में ही घातक होता है। हमें यह भी ध्यान रखना चाहिए कि इसका चेचक से कोई लेना-देना नहीं है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने शनिवार, 23 जुलाई को दुनियाभर में चल रहे मंकी पॉक्स संकट को ग्लोबल हेल्थ इमरजेंसी (वैश्विक स्वास्थ्य आपातकाल) घोषित किया. औपचारिक तौर पर जो टर्म (शब्दावली) WHO इस्तेमाल करता है, वो है ‘पब्लिक हेल्थ इमरजेंसी ऑफ़ इंटरनेशनल कंसर्न’. शॉर्ट में कहें तो PHEIC. ये घोषणा संगठन के महानिदेशक (WHO Director General) टेड्रोस एडनॉम घेब्रियेसिस ने की.

(Monkeypox Update) मंकीपॉक्स संकट मई 2022 में शुरू हुआ. तब ब्रिटेन में इसके 20 मामले दर्ज किए गए थे, जिनमें ज़्यादातर समलैंगिक पुरुष थे. तब से, मंकी पॉक्स 75 देशों में फैल चुका है और इसके लगभग 16,000 मामले रिकॉर्ड किए जा चुके हैं. फिलहाल यूरोप इस स्वास्थ्य संकट के केंद्र में है.

(Monkeypox Update) क्या ये यौन संबंध से फैल रहा है 

मंकीपॉक्स के ज्यादातर मामले पुरुषों में मिले हैं, लेकिन अभी हम इसे सेक्सुअली ट्रांसमिटेड डिजीज नहीं कह सकते हैं। इस बात पर रिसर्च चल रही है कि क्या ये एक यौन रोग है। लहारिया का कहना है कि यौन संबंध बनाते समय दो लोग करीब आते हैं, ऐसे में कॉन्टैक्ट डिजीज होने की वजह से भी यह बीमारी फैल सकती है। खून और स्पर्म से मंकीपॉक्स फैलने की आशंका को लेकर बात की तो डॉक्टर लहारिया ने कहा कि खून से मंकीपॉक्स बीमारी फैलने के सबूत नहीं मिले हैं। बाकी शरीर से निकलने वाले हर तरह के फ्लूइड से यह बीमारी फैलती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here