March 3, 2024

The Press Note

A News Blog

Milind Deora कांग्रेस को बड़ा झटका, मिलिंद देवड़ा ने दिया इस्तीफा

1 min read
Milind Deora कांग्रेस को बड़ा झटका, मिलिंद देवड़ा ने दिया इस्तीफा

Milind Deora कांग्रेस को बड़ा झटका, मिलिंद देवड़ा ने दिया इस्तीफा

Milind Deora कांग्रेस को न्याय यात्रा के पहले दिन लगा बड़ा झटका, मिलिंद देवड़ा ने दिया इस्तीफा, शिंदे गुट में होंगे शामिल

Milind Deora Rahul Gandhi की न्याय यात्रा से पहले, महाराष्ट्र में कांग्रेस पार्टी को एक मजबूत कड़ी से झटका लगा है। कांग्रेस नेता मिलिंद देवड़ा ने पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है, जिसकी जानकारी उन्होंने सोशल मीडिया के माध्यम से साझा की है। उन्होंने एक पोस्ट के माध्यम से यह बताया कि उनका एक महत्वपूर्ण अध्याय समाप्त हो गया है।

Twitter

देवड़ा ने राहुल गांधी की मणिपुर यात्रा से पहले ही अपनी राजनीतिक यात्रा में बदलाव का निर्णय ले लिया था। अब वे महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री Eknath Shinde के नेतृत्व वाली शिवसेना के चेहरे के रूप में अपने राजनीतिक सफर को आगे बढ़ाएंगे। देवड़ा के पिता, मुरली देवड़ा, ने पूरे जीवन में कांग्रेस का साथ दिया था, लेकिन उनके बेटे ने एक झटके में कांग्रेस से अपने परिवार का 55 साल पुराना नाता क्यों तोड़ दिया? Milind Deora राहुल गांधी के करीबी थे और पहले वे मुंबई कांग्रेस का नेतृत्व भी कर चुके थे। पार्टी ने 34 साल की उम्र में उन्हें यूपीए-2 सरकार में केंद्रीय राज्य मंत्री भी बनाया था। तब उन्हें राहुल गांधी की वजह से मनमोहन सिंह के मंत्रिमंडल में जगह मिली थी।

Milind Deora कांग्रेस को बड़ा झटका, मिलिंद देवड़ा ने दिया इस्तीफा
Milind Deora कांग्रेस को बड़ा झटका, मिलिंद देवड़ा ने दिया इस्तीफा

मिलिंद देवड़ा कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता रहे मिलिंद देवड़ा के पुत्र हैं। उनके पिता मुंबई के मेयर रहे साथ ही संसद के दोनों सदनों के सदस्य और केंद्र सरकार में पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्री रह चुके हैं। मिलिंद देवड़ा ने अपने पिता के कार्यकाल में ही राजनीति में प्रवेश किया था। वे युवा उम्र में ही सांसद और मंत्री बने, लेकिन पिछले दो चुनावों में उन्हें अपने पिता की पारंपरिक सीट मुंबई दक्षिण से हार का सामना करना पड़ा। देवड़ा को आशा थी कि 2024 के चुनाव में पार्टी उन्हें फिर से मौका देगी, लेकिन फिलहाल यह सीट उद्धव ठाकरे गुट के नेता अरविंद सावंत के कब्जे में है। सावंत शिवसेना में बगावत के बाद भी उद्धव के वफादार बने हुए हैं। ऐसे में शिवसेना (उद्धव ठाकरे) इस सीट को किसी भी हालत में कांग्रेस को नहीं देना चाहते। हाल ही में जब उद्धव ठाकरे के पुत्र आदित्य ठाकरे ने इस क्षेत्र में राजनीतिक कार्यक्रम किया और अपना समय आने की बात कही, तब मिलिंद देवड़ा ने अपना असंतोष प्रकट करते हुए कहा था कि गठबंधन के दलों को सीटों के बंटवारे से पहले ऐसा नहीं करना चाहिए।

मुंबई की दक्षिण सीट से चार बार मुरली देवड़ा और फिर दो बार खुद Milind Deora ने जीत हासिल की थी। मिलिंद देवड़ा यह सीट छोड़ना नहीं चाहते थे। लेकिन I.N.D.I.A. गठबंधन में इस सीट के शेयरिंग के तहत शिवसेना (UBT) को जाने से वे अपनी नई राजनीतिक यात्रा पर निकल पड़े। उद्धव ठाकरे के साथ जुड़े अरविंद सावंत की छवि और लोकप्रियता इस क्षेत्र में काफी है। ऐसे में एकनाथ शिंदे को एक ऐसे मजबूत चेहरे की तलाश थी जो न सिर्फ अरविंद सावंत को टक्कर दे, बल्कि अगर वे इस सीट के लिए दावेदारी करें तो बीजेपी भी मना न कर पाए। इस तरह एकनाथ शिंदे की तलाश मिलिंद देवड़ा पर खत्म हुई। जबकि कांग्रेस के अन्य नेता मणिपुर की ओर मुड़ रहे थे, तब रात में यह खबर फैली कि मकर संक्रांति पर सूर्य के दिशा परिवर्तन से एक कांग्रेस नेता भी अपनी राजनीतिक दिशा बदलने जा रहे हैं। सुबह मिलिंद देवड़ा ने खुद सोशल मीडिया पर कांग्रेस छोड़ने का ऐलान कर दिया।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *