Kanpur Voilance कानपुर फतराव और गोलीबारी में पीएफआई का हाथ, 24 गिरफ्तार

0
10
Kanpur Voilance कानपुर फतराव और गोलीबारी में पीएफआई का हाथ, 24 गिरफ्तार
Kanpur Voilance कानपुर फतराव और गोलीबारी में पीएफआई का हाथ, 24 गिरफ्तार

Violence in Kanpur: कानपुर में बीजेपी नेता नूपुर शर्मा के बयान के विरोध में बाजार बंद कराने को लेकर दो पक्षों में बवाल होने की खबर है. इस दौरान पथराव, गोलीबारी और बमबारी से हड़कंप मच गया. इस घटना में कई गाड़ियों को नुकसान पहुंचा है, तो कई लोग भी घायल हुए हैं.

Kanpur Voilance कानपुर में बाजार बंदी की आड़ में हजारों लोग जुटाए गए। साजिश रचकर बवाल (Kanpur Voilance) कराया गया। जबरन दुकानें बंद कराई गईं। इस साजिश की भनक पुलिस और प्रशासन को नहीं लग सकी। वहीं, पुलिस की जांच में बड़ी साजिश की बात सामने आई है, क्योंकि बगैर साजिश इतना बड़ा बवाल कराना संभव नहीं है। भाजपा प्रवक्ता के बयान के बाद से ही साजिश रचनी शुरू हुई थी। इलाकों में बाकायदा पोस्टर चस्पा करने के साथ साथ पर्चे बांटे गए, जिसमें तीन तारीख को आह्वान किया गया था। आह्वान करने वाले एक संगठन के शख्स का दावा है कि उसने बंदी निरस्त कर दी थी, उसका कोई लेनादेना नहीं है। पुलिस उस पर शिकंजा कसने की तैयारी कर रही है। भाजपा प्रवक्ता के बयान आने के बाद हयात जफर हाशमी ने तीन जून को बाजार बंद करने का एलान किया था। वीडियो मैसेज भी जारी किया था। पर्चे बांटकर बाकायदा पोस्टर भी लगाए गए थे।

कानपुर के पुलिस कमिश्नर वीएस मीणा ने गृह विभाग तथा पुलिस के आला अधिकारियों को जो इनपुट दिया है, उसमें अचानक हुए उपद्रव में पीएफआइ के कनेक्शन की भी आशंका जताई है। अब पीएफआइ के कनेक्शन की भी जांच प्रारंभ हो गई है। कानपुर (Kanpur Voilance) के नई सड़क क्षेत्र में शुक्रवार को उपद्रव के मामले में 55 लोगों के खिलाफ नामजद केस दर्ज किया गया है जबकि हजार अज्ञात पर भी नजर है। पुलिस रात भर दबिश देकर अब तक 35 से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है। यहां पर सुरक्षा व्यवस्था संभालने पीएसी की कई कंपनियां कानपुर में आ चुकी हैं। कानपुर पुलिस कमिश्नर ने कहा कि कानपुर में हुई हिंसा के पीछे पीएफआई या किसी अन्य संगठन की साजिश को भी खंगाला जा रहा है।

Murder Case: अभिषेक मिश्रा हत्याकांड पर कोर्ट ने सुनाया फैसला दो को उम्र कैद, मुख्य आरोपी बरी

#KanpurVoilance

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here