Jagannath Temple जगन्नाथ मंदिर के 9 रहस्य जिसका जवाब विज्ञान के पास भी नहीं है

0
83
Jagannath Temple जगन्नाथ मंदिर के 9 रहस्य जिसका जवाब विज्ञान के पास भी नहीं है
Jagannath Temple जगन्नाथ मंदिर के 9 रहस्य जिसका जवाब विज्ञान के पास भी नहीं है

 

(Jagannath Temple) मूर्ति  से जुड़ा रहयास

(Jagannath Temple) जब श्री कृष्ण ने अपना देह त्याग किया था उसके बाद उनका अंतिम संस्कत  किया गया उनका बाकि शरीर तो 5 तत्वों में मिल गया पर उनका ह्रदय बिलकुल सुरक्षित था और इतना ही नहीं उनका दिल एक जीवित इंसान की तरह धड़क रहा था। ये मन जाता है की उनका दिल आज भी सुरक्षित है और वो जगन्नाथ स्वामी की काठ की मूर्ति के अंदर है।

Paranormal expert: गौरव तिवारी पैरानॉर्मल एक्सपर्ट के रहस्यमयी मौत की अनसुनी दास्तान

Sex Life: शारीरिक सम्बन्ध बनाने के वक़्त रखे इन सभी बातों का खास ख्याल.

हर 12 साल में ये तीनो मूर्तियों बदली जाती है और उस दौरान पूरी शहर को ब्लैक आउट कर दिया जाता पुरे शहर की बिजली काट दी जाती है। इस दौरान पुरे मंदिर की सुरक्षा के लिए — को तैनात कर दिया जाता है । उस समय किसी के भी आने जाने पर रोक लगा दी जाती है।

अँधेरा होने के बाद मूर्ति बदला जाता है जो पुजारी उसे बदलने जाता है उसकी आँखों में पट्टी बाँध दी जाती है उसे हातों में दस्ताने पहनाए जाती है

उसके बाद वो मंदिर में प्रवेश करता है। मंदिर में पहुंचने के बाद मूर्ति बदलने की प्रक्रिया शुरू की जाती है पुराने मूर्तियों को बदलने के बाद नई मूर्ति रख दी जाती है मगर एक चीज नहीं बदली जाती है वो है एक भ्रम पदार्थ जो की सदियों से पुरानी मूर्ति से नई मूर्ति में डाल दिया जाता है।  हर बारह साल में मूर्ति बदली जाती है पर ये भ्रम पदार्थ नहीं बदला जाता इसे पुरानी मूर्ति से नई मूर्ति में डाल दिया जाता है। ये भ्रम पदार्थ क्या है ये किसी को भी नहीं पता बल्कि उस पुजारी को भी नहीं पता जो मूर्तियों को बदलता है।

इस भ्रम पदार्थ को ले कर ये मान्यता है की जो भी इसे देख लेगा उसकी मौत हो जाएगी।

इस भ्रम पदार्थ को लेकर जब कुछ पुजारियों से पूछा गया की आखिर ये भ्रम पदार्थ क्या है तो उन होने बताया की हमने इसे देखा तो नहीं है क्युकी इसे देखना मन है और उस समय वहा अँधेरा होता है पर जब इसे बदलने के लिए उसे हाथ में उठाते है तो लगता है जैसे की वो कोई जीवित वस्तु है उस मे हलचल होती है।

ये माना जाता है की वो भ्रम पदार्थ और कुछ नहीं श्री कृष्ण का ह्रदय है.

  मंदिर (Jagannath Temple) सींग द्वार का रहस्य

मंदिर के सींग द्वार का भी रहस्य बड़ा अजीब है जब आप सींग द्वार के बहार होते है तो आप को समुन्दर की आवाज सुनाई देती है पर जैसे ही आप सींग द्वार में प्रवेश करेंगे तो वो आवाज बंद हो जाती है।  इस बात का भी किसी के पास कोई जवाब नहीं है

पक्षियों का रहस्य (Jagannath Temple)

आपने हर मंदिर मसजित दरगाह में देखा होगा की पक्षियां वाहा अपना बसेरा बनाये रखती है पर जगनाथ मंदिर में आपको ये दृश्य देखने को नहीं मिलेगा जगन्नाथ मंदिर के ऊपर से कोई पक्षी नहीं उड़ता है और न ही मंदिर के गुमड़ पे बैठता है। ये भी के रहस्य है और पक्षियों के न उड़ने के कारन आज तक मंदिर के ऊपर से किसी भी हवाई जहाज को उड़ने की अनुमति नहीं है। कोई भी विमान आज तक जगन्नाथ मंदिर के ऊपर से नहीं जुग़रा।

परछाई का रहस्य (Jagannath Temple)

जगन्नाथ मंदिर करीब ४ लाख वर्गफुट में फैला है इनकी उचाई २२० फ़ीट है पर मंदिर की परछाई कभी नहीं बनती चाहे धुप किसी भी तरफ से हो पर मंदार की परछाई कभी नहीं बनती ये क्यों है इसका भी कोई जवाब नहीं है।

झंडे का रहस्य (Jagannath Temple)

जगनाथ मंदिर के शिखर एक धव्ज लगा हुआ है जो की रोज बदला जाता है। ये मान्यता है की अगर इस झंडे को नहीं बदला जाया किसी दिन तो ये मंदिर १८ सालों के लिए बंद हो जाएगा। मंदिर के ऊपर का झंडा हवा के विपरीत लहराता है हवा चाहे जिस तरफ से आये झंडा उसके दूसरे तरफ लहराता है।  इस बात का भी किसी के पास कोई जवाब नहीं है।

सुदर्शन चक्र का रहस्य (Jagannath Temple)

जगन्नाथ मंदिर एक ऊपर एक सुदर्शन चक्र लगा हुआ है इस चक्र को आप जिस भी दिशा से देखेंगे आप को लगेगा की ये आपके तरफ है। इसका भी कोई जवाब किसी के पास नहीं है।

रसोई का रहस्य (Jagannath Temple)

जगन्नाथ मंदिर का रसोई दुनिया के सबसे बड़े रसोई में से एक है। रसोई घर में ५०० रसोइये और ३०० सहायक काम करते है। लाखों लोगों का खाना यहाँ बनता है। मंदिर में आज तक कभी प्रशाद काम नहीं पड़ता है पर मंदिर के बंद होने के वक़्त प्रशाद ख़त्म हो जाता है चाहे कितने भी लोग हो प्रशाद काम नहीं पढता पर मंदिर के द्वार बंद होने के समय रसोई में प्रशाद नहीं बचता।  ये भी एक रहस्य  है।

प्रशाद पकने का रहस्य (Jagannath Temple)

जगन्नाथ मंदिर में प्रशाद पकाने का एक अलग तरीका है यहाँ 7 हांडियों में प्रशाद पकाया जाता है  इन हांडियों को एक क ऊपर एक रखा जाता है पर जिस हांड़ी को सबसे ऊपर रखा जाता है प्रशाद सबसे पहले उसी में पकता है ये क्यों होता है ये भी एक रहस्य ही है

समंदर का रहस्य (Jagannath Temple)

जगन्नाथ मंदिर से समंदर बहुत करीब है और इस समंदर में भी लहरें उल्टी चलती है जब लहरों को मंदिर के तरफ आना होता है तब ये लहरें  समंदर की तरफ जाती है और जब इसे समंदर की तरफ जाना होता है तब ये मंदिर की तरफ आती है। झंडे की तरह ये भी उलटे दिशा में जाती है और ऐसा सिर्फ जगन्नाथ पूरी में ही होता है

The Press Note

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here