Cyclone Yaas : बिहार-झारखंड हरियाणा-यूपी तूफान टकराने के आसार अलर्ट जारी

0
38
Cyclone Yaas बिहार-झारखंड हरियाणा-यूपी तूफान टकराने के आसार अलर्ट जारी
Cyclone Yaas बिहार-झारखंड हरियाणा-यूपी तूफान टकराने के आसार अलर्ट जारी

Cyclone Yaas: ‘यास’ तूफान का ब‍िहार में द‍िखने लगा है असर

नई दिल्ली|‘यास’ तूफान(Cyclone Yaas) के चलते बिहार के भागलपुर, बांका और अन्य क्षेत्रों में मौसम ने अचानक करवट ली है जिसके चलते लोगों को गर्मी से राहत मिली है. सुबह से ही तेज बारिश के बाद से मौसम में बदलाव होने से चिलचिलाती धूप और उमस भरी गर्मी से शहर में लोगों को राहत मिलेगी. ऐसे भी संभावित यास तूफान को लेकर भी कई जगहों को अलर्ट पर रखा गया है.

Yellow Fungus : अब यलो फंगस का खतरा मंडरा रहा है उत्तर प्रदेश में मिला मामला
Shri Prakash shukla :- 25 साल का लड़का जिसने मुख्यमंत्री की सुपारी 6 करोड़ में ली

यास (Cyclone Yaas) सोमवार रात से खतरनाक होना शुरू हो गया है। इसके असर से आज बंगाल के मेदिनीपुर, 24 परगना और हुगली में भी बारिश हो सकती है। नेशनल डिजास्टर रेस्पॉन्स फोर्स (NDRF) ने पूर्वी मेदिनीपुर और दिघा के कई इलाके सोमवार को ही खाली करवा लिए थे।

ANI

आज से झारखंड में यास तूफान (Cyclone Yaas) का प्रभाव दिखना शुरू हो जाएगा। झारखंड के जमशेदपुर जिला उपायुक्त सूरज कुमार ने चक्रवात तूफान यास के निमित्त जिला प्रशासन की तैयारियों को लेकर वरीय पदाधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की. गौरतलब है कि बंगाल की खाड़ी से उठने वाले चक्रवात तूफान यास (Cyclone Yaas) के 26 मई को पूर्वी सिंहभूम जिला से टकराने की संभावना है. इस दौरान पूर्वी सिंहभूम जिले में तेज बारिश, वज्रपात एवं भीषण आंधी-तूफान हो सकता है, जिसको देखते हुए जिला उपायुक्त ने सभी पदाधिकारियों को अलर्ट मोड पर रहने के निर्देश दिए हैं. उन्होंने कहा कि गांव-गांव टीम भेजकर लोगों को जागरूक करें कि आंधी-बारिश के दौरान वे घरों से बाहर नहीं निकलेंगे.

आसमानी बिजली गिरने से जानमाल के नुकसान की आशंका रहती है ऐसे में सभी लोग अपने घर में ही सुरक्षित रहेंगे. जिला उपायुक्त के निर्देशानुसार जिला नियंत्रण कक्ष, बिजली विभाग व सभी प्रखंड तथा नगर निकाय में किसी भी आकस्मिक स्थिति से निपटने व तत्काल सूचनाओं के संप्रेषण के लिए कंट्रोल रूम स्थापित करते हुए संपर्क करने के लिए फोन नंबर जारी किए गए हैं. वहीं नगर निकायों व सभी प्रखंड में शेल्टर हाउस चिन्हित कर लिए गए हैं तथा शेल्टर हाउस में आवश्यक मूलभूत सुविधाओं को उपलब्ध करा दिया गया है. वहीं माइकिंग के माध्यम से लोगों को चक्रवात तूफान को लेकर जागरूक करना शुरू कर दिया गया है. लोगों को आंधी-बारिश के दौरान घरों से बाहर नहीं निकलने की अपील की गई है, ताकि जानमाल सुरक्षित रह सकें. जिला प्रशासन सभी जिलावासियों से अपील करता है कि चक्रवात तूफान के दौरान घरों से बाहर नहीं निकलें. आंधी-बारिश के दौरान पेड़ के नीचे नहीं ठहरें, नदी किनारे रहने वाले लोगों को सुरक्षित स्थानों या शेल्टर हाउस भेजने को लेकर जिला प्रशासन सजग है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here