Covid Raipur : कोरोना संक्रमण की रफ्तार में ढील राजधानी में 24 घंटों में एक भी मौत नहीं

0
14
Covid Raipur : कोरोना संक्रमण की रफ्तार में ढील राजधानी में 24 घंटों में एक भी मौत नहीं
Covid Raipur : कोरोना संक्रमण की रफ्तार में ढील राजधानी में 24 घंटों में एक भी मौत नहीं

Covid Second Wave :- 24 घंटों में कोरोना संक्रमित एक भी मरीज की मौत नहीं हुई. यहां संक्रमण से अब तक कुल 3,103 लोगों की जान जा चुकी है.

रायपुर/Covid Raipur| नौ अप्रैल से जारी लॉकडाउन (Lockdown) के बाद पहली बार है जब राजधानी रायपुर (Raipur) में कोरोना (Covid Raipur) संक्रमित एक भी मरीज की मौत नहीं हुई. यहां संक्रमण से अब तक कुल 3,103 लोगों की जान जा चुकी है.छत्तीसगढ़ के गांवों में कोरोना संक्रमण (Covid Raipur) की रफ्तार काफी तेज है। अब 80 फीसदी से ज्यादा मामले गांवों से आ रहे हैं। इसके साथ ही छत्तीसगढ़ में वैक्सीनेशन की रफ्तार क्या है।

इन तमाम मुद्दों पर छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव ने नवभारत टाइम्स.कॉम से बात की है। टीएस सिंह देव ने बताया कि हमारे प्रदेश में कोरोना (Covid Raipur) बाहर से आया है। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र से सटे जिलों में हमारे यहां संक्रमण पहले फैला है। इसके साथ ही शहरी क्षेत्रों में गांव के लोगों काफी आवाजाही है। यही कारण है कि गांवों में संक्रमण फैला है।

Upendra Nath Rajkhowa : भारत के एक-लौते जज जिन्हे दी गई थी फांसी की सजा.

उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ के दक्षिणी क्षेत्र खासकर बस्तर संभाग में संक्रमण कम है क्योंकि वहां के लोग शहरों में काफी कम आवाजाही करते हैं। इसके साथ ही उन्होंने की शादियों की वजह से भी ग्रामीण इलाकों में संक्रमण की रफ्तार काफी बढ़ी है। सरकार की तरफ से पाबंदियां हैं लेकिन गांव के लोग मानते हैं। वहीं, उन्होंने वैक्सीनेशन को लेकर भी सवाल उठाया है। टीएस सिंह देव ने कहा कि वैक्सीनेशन ड्राइव शुरू करने से पहले छत्तीसगढ़ सरकार के साथ चर्चा नहीं हुई है।

स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव ने कहा कि यह जब राष्ट्रीय आपदा और राष्ट्रीय कार्यक्रम है तो केंद्र सरकार को ही पूरा खर्च उठाना चाहिए। बजट में वैक्सीनेशन के लिए प्रावधान भी किया गया था। बीच में सरकार ने वैक्सीनेशन का खर्च उठाने से मना कर दिया तो क्या हम अपने नागरिकों को कहते कि केंद्र ने मना कर दिया है तो हम भी आपको वैक्सीन नहीं लगवाएंगे। उन्होंने कहा कि वैक्सीनेशन के लिए मारामारी है। अभी स्थिति है कि कंपनियों में खींचातानी चल रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here