Corona: संकट में भारत को रूस का सहारा, मेडिकल सप्लाई से भरे 2 विमान भारत पहुंचे

0
39
Corona: संकट में भारत को रूस का सहारा, मेडिकल सप्लाई से भरे 2 विमान भारत पहुंचे
Corona: संकट में भारत को रूस का सहारा, मेडिकल सप्लाई से भरे 2 विमान भारत पहुंचे

Corona: मोदी-पुतिन चर्च रूस भेज रहा विशेष विमानों से 20 ऑक्सीजन इकाई, 75 वेंटिलेटर और दो लाख पैकेट दवाएं

नई दिल्ली: संकट काल में भारत (India) का पुराना भरोसेमंद दोस्त रूस (Russia) एक बार फिर आगे आया है. रूस ने भारत को कोरोना महामारी (Corona Epidemic) से उबारने के लिए मेडिकल उपकरणों से भरे दो विमान भेजे हैं. जो गुरुवार सुबह दिल्ली हवाई अड्डे पर उतर गए हैं.

जानकारी के मुताबिक रूस (Russia) से भेजी गई स्पेशल फ्लाइटों में 20 ऑक्सीजन कंसेनट्रेटर, 75 वेंटिलेटर्स, 150 बेडसाइड मॉनिटर्स और दवाइयां शामिल हैं. कुल मिलाकर करीब 22 मीट्रिक टन राहत सामग्री भारत भेजी गई है. जिसे अब कोरोना से जूझ रहे देश के विभिन्न राज्यों में रवाना किया जाएगा.

Paranormal expert: गौरव तिवारी पैरानॉर्मल एक्सपर्ट के रहस्यमयी मौत की अनसुनी दास्तान

रूस ने यह मदद बुधवार को राष्ट्रपति व्लादीमीर पुतिन (Vladimir Putin) और पीएम नरेंद्र मोदी के बीच हुई फोन कॉल के बाद भेजी. दोनों नेताओं की यह बातचीत यूं तो भारत (India) में कोरोना महामारी (Corona Epidemic) के प्रकोप पर आधारित थी लेकिन इसमें दोनों देशों से जुड़े कई द्विपक्षीय मुद्दों पर भी चर्चा की गई.

यही वजह है कि रूस की ओर से दो विमान अति-आवश्यक राहत सामग्री लेकर भारत पहुंचे. विमानों से कुल 20 टन सामग्री लाई गई है. इसमें ऑक्सीजन कॉन्सेंट्रेटर, लंग वेंटिलेटशन इक्विपमेंट, मॉनिटर्स और कोरोनावीर समेत दूसरी दवाएं शामिल हैं.

Tweeter.

रूस की स्पुतनिक-वी वैक्सीन मई महीने में भारत पहुंचना शुरू हो जाएगी. भारत में इसका उत्पादन भी किया जाएगा. रूसी राजदूत ने कहा कि पिछले साल महामारी के शुरूआती दौर में भारत ने अपनी दोस्ती का परिचय देते हुए रूस को हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन की आपातकालीन सप्लाई की थी. हमने इसकी सराहना की थी और इस मदद को याद रखा था.

उन्होंने कहा कि मुश्किल वक्त में एक-दूसरे की मदद के जरिए ही हम लोग इस महामारी को मात दे सकते हैं. हम उम्मीद करते हैं कि रूस की ओर से भेजी गई मदद कोरोना से लड़ाई में भारत सरकार के लिए लाभकारी साबित होगी

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here