CBSE-2021 EXAM :12वीं की परीक्षाएं कोरोना के चलते रद्द, पीएम मोदी बोले- छात्रों के हित में लिया गया फैसला

0
43
CBSE-2021 EXAM: 12th exams canceled due to corona, PM Modi said - decision taken in the interest of students
CBSE-2021 EXAM: 12th exams canceled due to corona, PM Modi said - decision taken in the interest of students

 

नई दिल्ली| CBSE-2021 EXAM  सीबीएसई 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं को रद्द कर दिया गया है। यह फैसला पीएम मोदी की अध्यक्षता में मंगलवार शाम एक अहम बैठक में लिया गया। कोरोना महामारी के अनिश्चितता भरे माहौल और विभिन्न हितधारकों की राय लेने के बाद फैसला किया गया कि इस साल कक्षा 12 की बोर्ड परीक्षाएं आयोजित नहीं की जाएंगी।

LPG Cylinder : LPG Gas Cylinder ग्राहकों को बड़ी राहत, जानिए कितने घटे दाम.
Upendra Nath Rajkhowa : भारत के एक-लौते जज जिन्हे दी गई थी फांसी की सजा.

सीबीएसई अब 12वीं के छात्रों के रिजल्ट तैयार करने के लिए कदम उठाएगा। यह एक पारदर्शी, वैकल्पिक प्रक्रिया के जरिए एक समय-सीमा के भीतर होगा। सरकार ने बताया कि पिछले साल की तरह, यदि कुछ छात्र परीक्षा देने की इच्छा रखते हैं, तो स्थिति अनुकूल होने पर सीबीएसई द्वारा उन्हें ऐसा विकल्प प्रदान किया जाएगा।

Tweet

संभव है अब राजस्थान सरकार और राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड भी 10वीं और 12वीं की परीक्षा रद्द कर सकता है। हालांकि प्रदेश के शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा बार-बार संकेत दे चुके हैं कि परीक्षा होगी। परीक्षा कब होगी और कैसे हाेगी। इसका अभी कोई खुलासा नहीं किया गया है।

प्रियंका गांघी ने CBSE-2021 EXAM के लिए लिखा पत्र

प्रियंका गांधी ने केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक से आग्रह किया कि कोरोना संक्रमण की दूसरी घातक लहर को देखते हुए सीबीएसई की 12वीं कक्षा की परीक्षा कराने पर पुनर्विचार किया जाए। ऐसे समय में बच्चों के जीवन को खतरे में डालना उनके साथ बहुत बड़ा अन्याय होगा। उन्होंने बच्चों और उनके अभिभावकों के सुझाव पर गंभीरता से विचार के लिए भी कहा है।

पत्र में आगे लिखा कि बच्चों और अभिभावकों, दोनों का मानना है कि भीड़भाड़ वाले परीक्षा केंद्रों पर जाना असुरक्षित होगा। कुछ ने लिखकर कहा है कि उनके घरों पर बीमार रिश्तेदार या बुजुर्ग हैं तथा ऐसे में उनके जीवन को खतरे में डालना होगा। उन्होंने इंटरनल असेसमेंट की भी वकालत की है। प्रियंका ने कहा अगर बच्चों के जीवन को खतरे में डालने वाले हालात की तरफ उन्हें धकेला जाता है, जो यह बहुत बड़ा अन्याय होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here