CBI Raid सीबीआई ने कांग्रेस नेता कार्ति चिदंबरम के चेन्नई आवास पर मारा छापा
CBI Raid सीबीआई ने कांग्रेस नेता कार्ति चिदंबरम के चेन्नई आवास पर मारा छापा

 

CBI Raid सीबीआई ने चीनी वीजा मामले में शनिवार को कांग्रेस सांसद कार्ति चिदंबरम karti chidambaram के चेन्नई स्थित आवास की तलाशी ली। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि प्राथमिकी दर्ज होने के बाद 17 मई को तलाशी के दौरान कार्ति चिदंबरम के घर के एक हिस्से को सील कर दिया गया था, क्योंकि उस हिस्से की चाबियां उपलब्ध नहीं थीं

263 चीनी मूल के लोगों को अवैध तौर पर वीजा दिलाने के मामले में कार्ति चिदंबरम से पूछताछ करने के लिए सीबीआई की टीम चेन्नई स्थित उनके आवास पहुंची. कार्ति फिलहाल लंदन में हैं. इसलिए सीबीआई CBI Raid की टीम ने घर में मौजूद कार्ति चिदंबरम की मां नलिनी चिदंबरम से कई मसलों पर पूछताछ की. सीबीआई कार्ति चिदंबरम से इस मामले में पिछले महीने ही दो दिनों तक लगातार पूछताछ कर चुकी है

कार्ति ने अपने खिलाफ लगे आरोपों को राजनीतिक बदले की कार्रवाई बताया है। सीबीआई CBI Raid ने उनके और अन्य के खिलाफ वेदांता समूह की कंपनी ‘तलवंडी साबो पावर लिमिटेड’ (टीएसपीएल) के एक शीर्ष अधिकारी द्वारा उन्हें और उनके करीबी सहयोगी एस भास्कर रमन को 50 लाख रुपये की रिश्वत देने के आरोप में 14 मई को प्राथमिकी दर्ज की थी।

वर्तमान मामले के अलावा अदालत में आईएनएक्स मीडिया और एयरसेल-मैक्सिस घोटालों से संबंधित सांसद चिदंबरम (ईडी द्वारा 2, और सीबीआई CBI Raid द्वारा 2) के खिलाफ कुछ अन्य मामले भी लंबित हैं, हालांकि उस मामले में चिदंबरम को अग्रिम जमानत दी गई थी। प्रवर्तन निदेशालय के वकील ने स्पष्ट रूप से उल्लेख किया था कि इस मामले में कार्यप्रणाली पिछले मामलों की तरह ही है जो दिशानिर्देशों को स्पष्ट रूप से निर्धारित किए जाने पर भी अवैध विचारों को दर्शाता है।

सीबीआई CBI Raid द्वारा दर्ज इस मामले की अगर मामले की गंभीरता को अगर गौर से देखा जाए तो इस मामले में बाद में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री रहें  पी. चिदंबरम से भी जांच एजेंसी द्वारा पूछताछ की जा सकती है. क्योंकि ये मामला साल 2011 का है, जब कार्ति चिदंबरम के पिता पी. चिदम्बरम केंद्रीय गृहमंत्री थे. क्योंकि जांच एजेंसी को ये जानकारी मिली थी कि कार्ति चिदंबरम और उसके सहयोगी द्वारा उनके पिता के नाम और पद का दुरुपयोग करते हुए इस फर्जीवाड़े को अंजाम दिया गया था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here